smartwebsolutions

Handdrawn Circle Logo (1) (1)
61hncy2nfol. Sx385
91pvrszxunl. Sx522
414mrdqk9jl. Sx466

मणिपुर हिंसा : महिला को निर्वस्त्र घुमाने के मामले में पुलिस ने की पांचवीं गिरफ्तारी, सर्च ऑपरेशन जारी

मणिपुर में महिला को निर्वस्त्र घुमाने के मामले में पुलिस ने पांचवें आरोपी को भी गिरफ्तार कर लिया है. जबकि वीडियो में दिख रहे अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस लगातार छापेमारी कर रही है. बता दें कि इस वीडियो के सामने आने के बाद पीएम मोदी ने इसकी निंदा करते हुए इस घटना को शर्मनाक बताया. साथ ही उन्होंने आश्वासन दिया था कि इस घटना में जितने भी आरोपी शामिल हैं उन्हें जल्द ही पकड़कर कड़ी से कड़ी सजा दिलाई जाएगी. बाद में सूबे के मुख्यमंत्री ने पुलिस को इन आरोपियों को गिरफ्तार करने और पूरे मामले की जांच करने के आदेश भी दिए थे. 

बीते 24 घंटों में राज्य में स्थिति चिंताजनक बनी हुई है. कई जगहों पर लोगों ने शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन किया. पुलिस और केंद्रीय सुरक्षा बल अलग-अलग जगहों सर्च ऑपरेशन चला रहे हैं. राज्य के अलग-अलग जिलों में कुल 126 चेक पोस्ट लगाए गए हैं. पुलिस ने नियम तोड़ने वाले 413 लोगों को अभी तक हिरासत में भी लिया है. पुलिस ने स्थानीय लोगों से शांति बनाए रखने की अपील भी की है. साथ भी किसी भी तरह की अफवाह पर भरोसा ना करने को भी कहा है. 

गौरतलब है कि मणिपुर में महिलाओं को निर्वस्त्र करके घुमाने का वीडियो आने के बाद इस सीएम एन बीरेन सिंह ने पुलिस को खास निर्देश दिए थे. मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह ने कहा था कि इस मामले में अभी तक कुछ आरोपियों को गिरफ्तार किया है जबकि कई अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी अभी होनी है.

मणिपुर के मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह ने कहा था कि हम पूरी तरह से हैरान हैं. दोषियों को अनुकरणीय दंड दिलाने का आश्वासन देता हूं. यदि संभव हुआ तो मृत्युदंड की मांग करूंगा. मैं लोगों से अपील करता हूं कि सड़कों को अवरुद्ध न करें और सुरक्षा बलों को भी न रोकें. मैं राज्य की जनता की ओर से इस घटना की निंदा करता हूं.

 

वहींमणिपुर में महिलाओं को निर्वस्त्र घुमाने का मामला संसद तक पहुंच गया. संसद के दोनों सदनों में शुक्रवार को भी इस मुद्दों को लेकर हंगामा हुआ और सदन की कार्यवाही स्थगित करनी पड़ी. अब इस घटना को लेकर पीड़ित महिला के पति ने एक बयान दिया हैINDIA TV से बातचीत में पीड़िता के पति ने कहा कि भीड़ मेरी पत्नी पर जानवरों की तरह टूट पड़ी थी. उन्होंने कहा कि जिस दिन ये हुआ वो मेरे लिए सबसे दर्दनाक दिन थापीड़ित महिला के पति ने कहा कि उनकी पत्नी को भीड़ अपने साथ अलग से लेकर गई. उन्हें जबरदस्ती कपड़े उतारने के लिए भी मजबूर किया गया

इस कांड की चर्चा सड़क से लेकर संसद तक हो रही है. सत्ता पक्ष से लेकर विपक्ष तक ने इस घटना की निंदा की. पीड़ित महिलाएं और उनका परिवार सदमे में है. आरोपियों ने एक महिला के साथ हैवानियत की हरकत करने से पहले उसके पिता और भाई को उसके सामने मार डाला था. पीड़िता की मां ने कहा कि तबाह हुए परिवार के कभी भी अपने गांव लौटने की कोई संभावना नहीं हैपीड़ित महिला की मां गहरे सदमे में हैं. NDTV से बातचीत में वह कुछ मिनट से ज्यादा देर तक नहीं बोल पाती हैं. उन्होंने आरोप लगाया कि मणिपुर सरकार ने हिंसा को रोकने या लोगों की सुरक्षा के लिए पर्याप्त कदम नहीं उठाए हैं.

यूपी में युवक ने पहले की बहन की सिर काटकर हत्या फिर कटा सिर लेकर पहुंचा पुलिस स्टेशन, गिरफ्तार

पुलिस की शुरुआती पूछताछ में आरोपी ने बताया कि उसकी बहन का किसी के साथ संबंध था जिस वजह से उन दोनों के बीच पहले बहस शुरू हुई. इसके बाद उसने गुस्से में अपनी बहन का सिर काट दिया. 

उत्तर प्रदेश के बाराबंकी से एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है. यहां एक शख्स ने अपनी बहन का पहले सिर काटा और उसके बाद वह कटे हुए सिर को लेकर पुलिस थाने पहुंच गया. पुलिस ने आरोपी शख्स को गिरफ्तार कर लिया है. घटना फतेहपुर इलाके के मिथवारा गांव की है. पुलिस की शुरुआती जांच में पता चला है कि आरोपी शख्स अपनी बहन का एक शख्स के साथ चल रहे रिलेशनशिप से खुश नहीं था.

उत्तर प्रदेश के बाराबंकी से एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है. यहां एक शख्स ने अपनी बहन का पहले सिर काटा और उसके बाद वह कटे हुए सिर को लेकर पुलिस थाने पहुंच गया. पुलिस ने आरोपी शख्स को गिरफ्तार कर लिया है. घटना फतेहपुर इलाके के मिथवारा गांव की है. पुलिस की शुरुआती जांच में पता चला है कि आरोपी शख्स अपनी बहन का एक शख्स के साथ चल रहे रिलेशनशिप से खुश नहीं था. 

पुलिस ने आरोपी की पहचान रियाज के रूप में की है. पुलिस की शुरुआती पूछताछ में आरोपी ने बताया कि उसकी बहन का किसी के साथ संबंध था जिस वजह से उन दोनों के बीच पहले बहस शुरू हुई. इसके बाद उसने गुस्से में अपनी बहन का सिर काट दिया. 

पुलिस ने आरोपी को उस वक्त गिरफ्तार किया जब वह बहन के कटे हुए सिर को लेकर पुलिस थाने पहुंचा. बता दें कि आरोपी की बहन कुछ दिन पहले ही चांद बाबू के साथ भाग गई थी. बाद में पुलिस ने पीड़ित परिवार से मिली शिकायत के बाद आरोपी चांद बाबू को पकड़कर जेल भेज दिया था. और रियाज की बहन को घरवालों के हवाले कर दिया था.  

 

पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार करने के बाद मृतक लड़की के शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है. पुलिस की जांच में पता चला है कि रियाज और उसकी बहन के बीच कई बार पहले भी बहस और झगड़ा  हो चुका था.

नॉर्थ कोरिया ने ताबड़तोड़ दागीं कई क्रूज मिसाइलें, देश में घुसने वाले अमेरिकी सैनिक पर अभी भी खामोश

पिछले हफ्ते 2 बैलिस्टिक मिसाइलें दागने के बाद किम जोंग उन के देश नॉर्थ कोरिया ने शनिवार की सुबह कई क्रूज मिसाइलें दागी हैं।

सियोलनॉर्थ कोरिया ने शनिवार तड़के अपने पश्चिमी समुद्र की ओर कई क्रूज मिसाइलें दागीं। साउथ कोरिया की सेना ने दावा किया कि सुबह 4 बजे के आसपास इन मिसाइलों को दागा गया है। यह उत्तर कोरिया द्वारा इस हफ्ते किया गया दूसरा मिसाइल प्रक्षेपण है। इसे साउथ कोरिया में परमाणु हथियारों से लैस अमेरिकी पनडुब्बी की तैनाती के खिलाफ उठाया गया कदम बताया जा रहा है। मिसाइल प्रक्षेपण के बीच नॉर्थ कोरिया ने इस महीने की शुरुआत में दक्षिण कोरिया से सीमा पार कर देश में घुसने वाले 23 साल के अमेरिकी सैनिक ट्रैविस किंग पर लगातार पांचवें दिन भी चुप्पी बनाए रखी।

जेल से रिहा हुआ था अमेरिकी सैनिक

किंग ने पिछले साल अक्टूबर में सियोल में एक अज्ञात व्यक्ति पर हमला करने और पुलिस की एक गाड़ी को नुकसान पहुंचाने के मामले में दक्षिण कोरियाई जेल में लगभग 2 महीने की सजा काट ली थी। किंग को 10 जुलाई को रिहा कर दिया गया था और उसे सोमवार को टेक्सास के फोर्ट ब्लिस में अपने घर जाना था, जहां उसे अतिरिक्त सैन्य कार्रवाई और सेवा से बर्खास्तगी का सामना करना पड़ सकता था। हालांकि, किंग टेक्सास जाने के बजाय टूरिस्टों के एक ग्रुप के साथ मंगलवार की सुबह साउथ और नॉर्थ कोरिया को बांटने वाले असैन्यीकृत क्षेत्र की यात्रा पर निकला तथा किम जोंग उन के देश की सीमा में घुस गया।

बुधवार को भी दागी गई थीं 2 मिसाइलें
साउथ कोरिया के ज्वाइंट चीफ ऑफ स्टाफ ने शनिवार को कहा कि नॉर्थ कोरिया ने तड़के 4 बजे के आसपास मिसाइलों को लॉन्च करना शुरू किया, लेकिन उन्होंने यह

नहीं बताया कि पड़ोसी देश ने कितनी मिसाइलें दागीं और इन मिसाइलों ने कितनी दूरी तक उड़ान भरी। ज्वाइंट चीफ ऑफ स्टाफ ने कहा कि अमेरिका और दक्षिण कोरिया की सेनाएं उत्तर कोरियाई मिसाइल प्रक्षेपण का विश्लेषण कर रही हैं। उत्तर कोरिया ने बुधवार को अपनी राजधानी प्योंगयांग के पास स्थित एक क्षेत्र से छोटी दूरी की 2 बैलिस्टिक मिसाइलें दागी थीं।

मिसाइलों ने तय की थी 550 किमी की दूरी
रिपोर्ट्स के मुताबिक, कोरियाई प्रायद्वीप के पूर्व में समुद्र में गिरने से पहले इन मिसाइलों ने लगभग 550 किलोमीटर की दूरी तय की थी। यह दूरी प्योंगयांग और दक्षिण कोरिया के बंदरगाह शहर बुसान के बीच मौजूद फासले के बराबर है। बता दें कि बुसान में ही अमेरिका ने पिछले हफ्ते परमाणु हथियारों से लैस पनडुब्बी यूएसएस केंटकी तैनात की है। यह 1980 के दशक के बाद दक्षिण कोरिया में परमाणु हथियारों से लैस किसी अमेरिकी पनडुब्बी की पहली तैनाती है।

केंद्र बनाम केजरीवाल, दूसरे नियम में छिपा है राज, बाकी राज्यों के पास संविधानिक व्यवस्था क्या है?

 

 केंद्र बनाम अरविंद केजरीवाल मामले में सुप्रीम कोर्ट ने कई सवाल उठाए हैं। ये दिल्‍ली में लाए गए केंद्र सरकार के अध्‍यादेश को लेकर हैं। पहले सवाल में उसने पूछा है कि संसद के पास आर्टिकल 239एए (7) के तहत कानून लागू करने के लिए क्‍या शक्तियां हैं? क्‍या संसद अपनी शक्तियों का इस्‍तेमाल एनसीटीडी के नियमों का बर्खास्‍त करने के लिए कर सकता है? सुप्रीम कोर्ट ने मामले को स्‍क्रूटनी के लिए पांच जजों की संविधान पीठ को रेफर किया है। इसमें दिल्‍ली अध्‍यादेश की संवैधानिक वैधता को परखा जाना है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि कानून के अनुसार, बेशक संसद ब्‍यूरोक्रेसी को लेकर दिल्‍ली सरकार के कंट्रोल पर अंकुश लगा सकती है। लेकिन, क्‍या वह चुनी सरकार के क्षेत्राधिकार को एकदम खत्‍म कर सकती है, यह जांच का विषय है।

गुरुवार को भारत के प्रधान न्‍यायाधीश डीवाई चंद्रचूड़ की अगुआई में तीन जजों की पीठ ने इस बारे में रेफरेंस ऑर्डर पारित किए। सुप्रीम कोर्ट की वेबसाइट पर इसे देर शाम

 

अपलोड किया गया। यह कहता है कि कानून कहता है कि संसद से बना कानून नेशनल कैपिटल टैरिटरी ऑफ दिल्‍ली (NCTD) की कार्यकारी शक्तियों को सीमित कर सकता है। यह बात सेवाओं के मामले में भी लागू होती है। इस मामले में किसी तरह का कोई शक-शुबा नहीं है।

केंद्र बनाम केजरीवाल, दूसरे नियम में छिपा है राज, बाकी राज्यों के पास संविधानिक व्यवस्था क्या है?

41vc De Jxl. Sy300 Sx300 Ql70 Fmwebp
9181ivjwkwl. Sy879
41gp6dcqzwl. Sx300 Sy300 Ql70 Fmwebp

पाकिस्तान ने कश्मीर के लिए किया यासीन मलिक की 11 साल की बेटी का इस्तेमाल, विशेषज्ञ बोले-ये चाल भी होगी फेल

 

Yasin Malik Daughter:

 पाकिस्‍तान ने एक बार फिर कश्‍मीर पर चाल चली है। इस बार उसकी चाल का मोहरा बनी है भारत की जेल में बंद यासीन मलिक की 11 साल की बेटी। लेकिन विशेषज्ञों की मानें तो अपनी इस चाल के बाद भी पाकिस्‍तान कभी अपने इरादों में कामयाब नहीं हो पाएगा।

इस्‍लामाबाद: जम्‍मू कश्‍मीर के लिए पाकिस्‍तान किस हद तक नीचता पर उतर सकता है, इसका नजारा पाकिस्‍तान अधिकृत कश्‍मीर (पीओके) की प्रातींय सभा में देखने को मिला। यहां पर उसने भारत की जेल में बंद यासीन मलिक की 11 साल की बेटी का इस्‍तेमाल कर वही बातें कहीं जो वह हमेशा से कहता आया है। मगर कश्‍मीर के बुद्धिजीवियों और कश्‍मीर मामलों के जानकारों की मानें तो इस बार भी पाकिस्‍तान को कामयाबी नहीं मिल पाएगी। उनका मानना है कि पिछले तीन दशक से पाकिस्‍तान यही प्रपोगेंडा चला रहा है लेकिन हर बार की तरह इस बार भी वह मुंह के बल गिरेगा।

 

पाकिस्‍तान को मिला नया हथियार
लंदन स्थित नेशनल इक्‍वैलिटी पार्टी जम्‍मू कश्‍मीर गिलगित बा‍ल्टिस्‍तान एंड लद्दाख (JKBGL) के मुखिया प्रोफेसर सज्‍जाद रजा ने अपने ट्विटर हैंडल पर पाकिस्‍तान की नई असफल साजिश के बारे में विस्‍तार से लिखा है। रजा ने लिखा, ‘यासीन मलिक की शादी के पीछे यही योजना थी। कश्मीर में 35 लाख से ज्‍यादा महिलाएं हैं लेकिन मलिक को कोई साथी नहीं मिला और उन्होंने एक पाकिस्तानी महिला से शादी कर ली।’

उन्‍होंने आगे लिखा, ‘यह महिला पाकिस्तान की खुफिया एजेंसियों के साथ काम करती है। अब अगले 60-70 सालों तक कश्मीर बनेगा पाकिस्तान के प्रचार को जारी रखने के लिए पाकिस्तान के हाथ में ‘कश्मीर की बेटी’ मिल गई है। लेकिन वह भी मकबूल बट के बच्चों की विफलता की तरह असफल होगी। सत्य की हमेशा जीत होती है। जम्मू और कश्मीर में आतंकवाद के लिए कोई जगह नहीं है। पाकिस्तान के सारे मंसूबे नाकाम हो जाएंगे। जम्मू कश्मीर के लोग अब पाकिस्तान से तंग आ चुके हैं।’ सज्‍जाद रजा लंदन में रहते हैं।

 

पिता को बताया नई रोशनी
यासीन मलिक की 11 साल की बेटी रजिया सुल्‍तान ने पीओके एसेंबली में अपने पिता की स्थिति पर लिखा हुआ भाषण पढ़ा था। उसने बड़े ही भावुक अंदाज में भारत सरकार से अपील की कि उसे उसके बीमार पिता से मिलने की मंजूरी अनुमति दी

जाए। कश्मीर के पूर्व आतंकी से राजनेता बना 57 साल का यासीन मलिक इस समय भारत की राष्‍ट्रीय राजधानी नई दिल्‍ली स्थित त‍िहाड़ जेल में बंद हैं। रजिया ने मुजफ्फराबाद में क्षेत्रीय विधान सभा को संबोधित करते हुए कहा कि उसका प‍िता कश्‍मीर में लड़ाई की नई रोशनी बन चुका है।

उम्र कैद की सजा काट रहा यासीन
रजिया के शब्‍द थे, ‘मेरे पिता कश्मीर के हित लिए नई रोशनी हैं। मुझे उम्मीद है कि मेरे पिता को फर्जी मामले से रिहा कर दिया जाएगा और वह जल्द ही हमारे बीच होंगे। ‘ उसका भाषण टीवी पर टेलीकास्‍ट किया गया था। उसने कहा, ‘मुझे अपने पिता से मिलना और उनके साथ क्वालिटी टाइम बिताना अच्छा लगेगा। जब मैं अपने पिता से मिला तो मैं केवल दो साल का था। मैं अब 11 साल का हो गया हूं। मुझे अपने पिता की बहुत याद आती है। मैं उसकी आवाज सुनने के लिए तरस रही हूं।’ यासीन मलिक को अप्रैल 2019 में भारत की राष्‍ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने आतंकवाद विरोधी कानूनों और भारत के खिलाफ युद्ध छेड़ने के तहत गिरफ्तार किया था। उसे साल 2022 में आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई थी।

 

केंद्र बनाम केजरीवाल, दूसरे नियम में छिपा है राज, बाकी राज्यों के पास संविधानिक व्यवस्था क्या है?

41vc De Jxl. Sy300 Sx300 Ql70 Fmwebp
9181ivjwkwl. Sy879
41gp6dcqzwl. Sx300 Sy300 Ql70 Fmwebp