smartwebsolutions

Handdrawn Circle Logo (1) (1)
61hncy2nfol. Sx385
91pvrszxunl. Sx522
414mrdqk9jl. Sx466

सीमा हैदर की तरह अंजू के प्यार की पाकिस्तान में शुरू हुई जांच, भारतीय महिला ने बताया कैसे हुआ नसरुल्ला से प्यार

Anju Nasrullah Love Story Pakistan: भारत की रहने वाली अंजू प्रसाद की फेसबुक पर पाकिस्‍तान के नसरुल्‍ला के साथ शुरू हुई लवस्‍टोरी अब सुर्खियां बटोर रही हैं। अंजू, भले ही वैध वीजा पर पाकिस्‍तान गई लेकिन अब देश की जांच एजेंसियों ने मामला अपने हाथ में ले लिया है और इसकी तफ्तीश शुरू कर ली है।

पेशावर: पाकिस्‍तान की सुरक्षा एजेंसियों ने अब भारत की अंजू प्रसाद की लवस्‍टोरी की पड़ताल शुरू कर दी है। 35 साल की अंजू जो भारत के उत्‍तर प्रदेश की रहने वाली हैं, उन्‍हें पाकिस्‍तान के नसरुल्‍ला से प्‍यार हो गया था। अफगानिस्‍तान की सीमा पर स्थित खैबर पख्‍तूनख्‍वां की छोटी सी जगह अपर दीर के नसरुल्‍ला के साथ उनकी लवस्‍टोरी फेसबुक पर शुरू हुई थी। लेकिन अब इस ‘फेसबुकिया’ लवस्‍टोरी की पाकिस्‍तान में जांच शुरू हो गई है। पाकिस्‍तान की मीडिया के मुता‍बिक हर बिंदु से मामले की जांच कर जाएगी। द न्‍यूज इंटरनेशनल ने सूत्रों के हवाले से इस बात की जानकारी दी है। यह मामला ठीक उसी समय सामने आया है जब भारत में सीमा हैदर से पूछताछ शुरू हुई है। अंजू की तरह सीमा भी अपने प्‍यार की खातिर भारत आई थी। हालांकि वह गैर-कानूनी तरीके से यहां पहुंची थी।

 

नसरुल्ला के बिना नहीं रह सकती अंजू
रविवार को जैसे ही अंजू के बारे में खबरें आनी शुरू हुईं नसरुल्‍ला के घर के बाहर स्‍थानीय मीडिया का हुजूम इकट्ठा हो गया। अंजू ने पत्रकारों से कहा कि वह नसरुल्लाह से प्यार करती है और वह उसके बिना नहीं रह सकती। अंजू ने बताया कि उनकी मुलाकात फेसबुक पर हुई थी और फिर उनकी दोस्ती गहरे प्यार में बदल गई। इसके बाद उन्होंने भारत छोड़कर पाकिस्तान जाने का फैसला किया। अंजू का कहना था कि उसने ट्रैवल वीजा के लिए अप्‍लाई किया। वीजा मिलने के बाद वह यहां पहुंच गई। एक सुरक्षा अधिकारी के मुताबिक अंजू और नसरुल्ला की दोस्ती की जांच की जा रही है। अंजू पहले से ही शादीशुदा है।

पुलिस के पास अंजू
अपर दीर के जिला पुलिस अधिकारी मुश्ताक खान ने पत्रकारों को बताया कि महिला उनके साथ है और वे मामले की जांच कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि महिला के पास वैध वीजा है और वह एक महीने तक रह सकती है। डीपीओ ने कहा कि महिला को दोषमुक्त होने के बाद मीडिया के सामने पेश किया जाएगा। एक स्थानीय पत्रकार ने कहा कि

भारतीय महिला मीडिया से बच रही थी। उन्होंने कहा कि जब नसरुल्ला के आने की खबर सोशल मीडिया पर वायरल हुई तो कई पत्रकार उसके घर पहुंचे, लेकिन उन्हें बताया गया कि अंजू उनके घर पर मौजूद नहीं थी।

वहीं नसरुल्‍लाह ने पाकिस्‍तान के आज न्‍यूज को बताया है कि अगले दो से तीन दिनों में वह और अंजू सगाई करने वाले हैं। फिर दस से बारह दिनों के बाद वह भारत वापस चली जाएगी और फिर शादी के लिए आएगी। यह मेरी और अंजू की निजी जिंदगी है। हम नहीं चाहते कि इसमें कोई दूसरा हस्तक्षेप करे। उनका कहना था कि वो दोनों मीडिया से दूर रहने की कोशिश कर रहे हैं। वह अपने देश वापस आकर अपना काम फिर से शुरू करना चाहती है। नसरुल्ला ने कहा कि वीजा प्रक्रिया पूरी करने में अंजू को दो साल लग गए। उन्होंने फैसला किया कि शादी के बारे में आखिरी फैसला लेने से पहले अंजू पहले पाकिस्तान में अपने परिवार से मिलेंगी।

 

 

 

कंबोडिया में चुनाव के बाद एक बार फिर सत्‍ता संभालने की तरफ हुन सेन, इस बार चीन के करीबी बेटे को सौंपेंगे कुर्सी!

Cambodia Elections 2023: कंबोडिया में चुनावों के लिए वोटिंग हो चुकी है। इसके साथ ही एक बार फिर से हुन सेन की जीत का रास्‍ता साफ हो गया है। कई लोग इन चुनावों को एक तरफा करार दे रहे हैं तो कुछ लोग चुनावों के बाद प्रधानमंत्री हुन सेन को सबसे ताकतवर शख्‍स बता रहे हैं।

नोम पेन्ह: कंबोडिया के लंबे समय तक प्रधानमंत्री रहे हुन सेन की सत्तारूढ़ पार्टी ने रविवार को हुए आम चुनाव में भारी जीत का दावा किया। मतदान समाप्त होने के छह घंटे बाद, राष्ट्रीय चुनाव समिति ने कहा कि 84.6 प्रतिशत पात्र मतदाताओं ने मतदान किया है। हुन सेन की कम्बोडियन पीपुल्स पार्टी के प्रवक्ता सोक एयसन ने कहा कि उनका मानना है कि उनकी पार्टी ने कुल मतदान के 78-80 प्रतिशत मत हासिल किये हैं। हुन सेन पहली बार सन् 1985 में देश के पीएम बने थे।

एकतरफा चुनावों का आरोप
उन्होंने बताया, ‘सीटों की संख्या के बारे में अभी तक मेरे पास कोई जानकारी नहीं है, लेकिन मैं कह सकता हूं कि सत्तारूढ़ ‘कंबोडियन पीपुल्स पार्टी’ ने भारी जीत हासिल की है।’ लंबे समय से कंबोडिया के प्रधानमंत्री पद पर आसीन हुन सेन ने रविवार सुबह सात बजे मतदान शुरू होने के 10 मिनट बाद अपना वोट डाला था। चुनाव में यूरोपीय संघ, अमेरिका और अन्य पश्चिम देशों ने यह कह कर अपने पर्यवेक्षकों को भेजने से इनकार कर दिया था कि निष्पक्ष एवं स्वतंत्र चुनाव कराने के लिए आवश्यक शर्तों को पूरा नहीं किया गया है। रूस, चीन और गिनी-बिसाऊ ने अपने पर्यवेक्षकों को कंबोडिया भेजा है।

बेटा बनेगा देश का पीएम!
हुन सेन ने देश की राजधानी नोम पेन्ह के बाहरी इलाके में स्थित अपने गृह जिले में मतदान केंद्र पर मतदान किया। इस दौरान उन्होंने मतदान केंद्र के बाहर अपने समर्थकों से हाथ मिलाया और ‘सेल्फी’ भी ली। एशिया के सबसे लंबे समय तक शासन करने वाले नेता हुन सेन (70) की मजबूत रणनीति के कारण पिछले 38 साल में उनकी ताकत लगातार बढ़ी है, लेकिन उन्होंने इस बार चुनाव जीतने के बाद प्रधानमंत्री पद अपने सबसे बड़े बेटे हुन मानेट को सौंपने की घोषणा की है। अभी तक मानेट ने इस पर कुछ नहीं कहा है।

चीन के साथ बढ़ीं नजदीकियां
हुन मानेट (40) ने वेस्ट प्वाइंट स्थित ‘यूएस मिलिट्री अकेडमी’ से स्नातक, न्यूयॉर्क विश्वविद्यालय ने स्नातकोत्तर और ब्रिटेन की ब्रिस्टल यूनिवर्सिटी से पीएचडी की डिग्री प्राप्त की है। वह इस समय कंबोडिया के सेना प्रमुख हैं। मानेट के पश्चिमी देशों में शिक्षा हासिल करने के बावजूद विश्लेषकों को ऐसा नहीं लगता कि उनके सत्ता संभालने पर कंबोडिया सरकार की नीति में तत्काल कोई बदलाव आएगा। उनके पिता की नीतियों के कारण कंबोडिया की हाल के वर्षों में चीन के साथ नजदीकियां बढ़ी हैं। मानेट को भी चीन की नीतियों का समर्थक माना जाता है।

Alaska Helicopter crash में मारे गए 4 लोगों के शव झील से बरामद, पायलट समेत तीन लोग थे विमान में सवार

Alaska Helicopter crash अलास्का के खोज और बचाव गोताखोरों ने रविवार को अपने विमान के डूबे हुए मलबे से एक हेलीकॉप्टर पायलट और तीन वैज्ञानिकों के शव बरामद किए जो पिछले सप्ताह सुदूर उत्तरी ढलान पर एक उथली झील में गिर गया था। अधिकारियों ने इसकी जानकारी दी। इस दुर्घटना के कारण की जांच राष्ट्रीय परिवहन सुरक्षा बोर्ड द्वारा की जा रही है।

एंकरेज, एजेंसी। अलास्का में एक पायलट और तीन सरकारी कर्मचारियों को ले जा रहा एक हेलीकॉप्टर सुदूर उत्तरी ढलान क्षेत्र में स्थित शनिवार को एक झील में दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। अलास्का के खोज और बचाव गोताखोरों ने रविवार को अपने विमान के डूबे हुए मलबे से एक हेलीकॉप्टर पायलट और तीन वैज्ञानिकों के शव बरामद किए, जो पिछले सप्ताह सुदूर उत्तरी ढलान पर एक उथली झील में गिर गया था। अधिकारियों ने इसकी जानकारी दी।

दुर्घटना के कारण की जांच राष्ट्रीय परिवहन सुरक्षा बोर्ड द्वारा की जा रही है।

राष्ट्रीय परिवहन सुरक्षा बोर्ड के अलास्का क्षेत्र के प्रमुख क्लिंट जॉनसन ने कहा, मलबे को उठाने का एकमात्र तरीका दूसरे हेलीकॉप्टर का उपयोग करना होगा क्योंकि यह विशाल टुंड्रा में फैली कई झीलों में से एक के बीच में है।

चार लोगों का मिला शव 

क्लिंट जॉनसन ने कहा कि आग के मौसम के दौरान अलास्का में वाणिज्यिक हेलीकाप्टरों की अत्यधिक मांग हो जाती है। उन्होंने रविवार को कहा, “हमें काम करने के लिए हेलीकॉप्टर ढूंढने में कठिनाई हो रही है।”

मृतकों में 51 वर्षीय रोनाल्ड डैनन और 27 वर्षीय जस्टिन जर्मन, दोनों फेयरबैंक्स के थे; टोरी मूर, 26, साउथ बेंड, इंडियाना के; और उत्तरी ध्रुव, अलास्का के 48 वर्षीय पायलट बर्नार्ड “टोनी” हिगडन।

हेलीकॉप्टर में सवार तीनों लोग थे सरकारी कर्मचारी 

क्षेत्र में फील्डवर्क करते समय, अलास्का प्राकृतिक संसाधन विभाग के कर्मचारियों को 1996 बेल 206 हेलीकॉप्टर में ले जाया गया जो गुरुवार को दुर्घटनाग्रस्त हो गया। वे भूवैज्ञानिक और भूभौतिकीय सर्वेक्षण प्रभाग से संबंधित थे।

हेलीकॉप्टर का स्वामित्व मैरीटाइम हेलीकॉप्टर्स के पास है। कंपनी ने एक बयान में पायलट हिग्डन की सराहना की।हम सभी टोनी को एक कुशल पेशेवर और कुशल पायलट के रूप में जानते थे। हम सब को उनकी बहुत याद आएगी।

मणिपुर में महिलाओं के साथ हुई घटना क्रूर और भयानक...अमेरिका का बयान, भारत से किया यह अनुरोध

US on Manipur Video: पिछले दिनों सामने आए मणिपुर के द‍िल दहलाने वाले वीडियो पर अमेरिका की प्रतिक्रिया आई है। अमेरिकी ने कहा है कि ये वीडियोज चिंता पैदा करने वाले हैं। मणिपुर में दो महीने से जारी हिंसा के बीच दो महिलाओं को निर्वस्‍त्र घुमाने वाले वीडियो के बाद से तनाव की स्थिति है।

 

वॉशिंगटनअमेरिका ने रविवार को कहा है कि वह भारत के पूर्वोत्तर राज्य मणिपुर में दो महिलाओं को निर्वस्‍त्र घुमाने वाले वीडियो की रिपोर्ट पर खासा चिंतित है। यह वह मामला है जिसने देश को गुस्से में डाल दिया है। अमेरिका के विदेश विभाग की तरफ से इस घटना को ‘क्रूर’ और ‘भयानक’ बताया गया है। विदेश विभाग ने कहा है कि अमेरिका पीड़ितों के प्रति अपनी सहानुभूति व्यक्त करता है। मणिपुर में मई के महीने से ही हिंसा जारी है। कुकी समुदाय को दिए जाने वाले आर्थिक लाभों में बदलावों की आशंका के बाद से ही मैतेई समुदाय के साथ हिंसा शुरू हो गई।

अमेरिका ने किया भारत से अनुरोध
जो वीडियो अब सामने आए हैं वो मई के बताए जा रहे हैं। जातीय संघर्ष के दौरान 21 और 19 साल की पीड़ितों को निर्वस्‍त्र करके घुमाया गया था। जबकि एक महिला के गैंगरेप और फिर हत्‍या की खबरें हैं। इस घटना ने पूरी दुनिया का ध्यान आकर्षित किया है। पिछले हफ्ते ही वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था। पुलिस ने मामले में कुछ गिरफ्तारियां की हैं। अमेरिकी विदेश विभाग की तरफ से कहा गया है कि अमेरिका, मणिपुर हिंसा का शांतिपूर्ण और समावेशी समाधान चाहता है। साथ ही उसने अधिकारियों से सभी समूहों, घरों और पूजा स्थलों की सुरक्षा की मांग करते हुए मानवीय जरूरतों का जवाब देने का अनुरोध किया है।

पीएम मोदी ने की निंदा
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले हफ्ते वीडियो सामने आने के बाद हमले की निंदा की है। उन्‍होंने इसे ‘शर्मनाक’ बताते हुए कड़ी कार्रवाई का वादा किया। केंद्र सरकार की तरफ से 32 लाख की आबादी वाले मणिपुर में तैनाती के लिए हजारों अर्धसैनिक और सेना की

टुकड़ियां भेजी। इसके बाद मामला कुछ समस्या शांत हो सका था। लेकिन इसके तुरंत बाद छिटपुट हिंसा और हत्याएं फिर से शुरू हो गईं और तब से राज्य में तनाव बना हुआ है। मणिपुर सरकार की तरफ से बताया गया है कि हिंसा भड़कने के बाद से कम से कम 142 लोगों की मौत हो गई है। जबकि 50 हजार से ज्‍यादा लोग अपना घर छोड़कर चले गए हैं।

 

Alaska Helicopter crash में मारे गए 4 लोगों के शव झील से बरामद, पायलट समेत तीन लोग थे विमान में सवार

Alaska Helicopter crash अलास्का के खोज और बचाव गोताखोरों ने रविवार को अपने विमान के डूबे हुए मलबे से एक हेलीकॉप्टर पायलट और तीन वैज्ञानिकों के शव बरामद किए जो पिछले सप्ताह सुदूर उत्तरी ढलान पर एक उथली झील में गिर गया था। अधिकारियों ने इसकी जानकारी दी। इस दुर्घटना के कारण की जांच राष्ट्रीय परिवहन सुरक्षा बोर्ड द्वारा की जा रही है।

एंकरेज, एजेंसी। अलास्का में एक पायलट और तीन सरकारी कर्मचारियों को ले जा रहा एक हेलीकॉप्टर सुदूर उत्तरी ढलान क्षेत्र में स्थित शनिवार को एक झील में दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। अलास्का के खोज और बचाव गोताखोरों ने रविवार को अपने विमान के डूबे हुए मलबे से एक हेलीकॉप्टर पायलट और तीन वैज्ञानिकों के शव बरामद किए, जो पिछले सप्ताह सुदूर उत्तरी ढलान पर एक उथली झील में गिर गया था। अधिकारियों ने इसकी जानकारी दी।

दुर्घटना के कारण की जांच राष्ट्रीय परिवहन सुरक्षा बोर्ड द्वारा की जा रही है।

राष्ट्रीय परिवहन सुरक्षा बोर्ड के अलास्का क्षेत्र के प्रमुख क्लिंट जॉनसन ने कहा, मलबे को उठाने का एकमात्र तरीका दूसरे हेलीकॉप्टर का उपयोग करना होगा क्योंकि यह विशाल टुंड्रा में फैली कई झीलों में से एक के बीच में है।

चार लोगों का मिला शव 

क्लिंट जॉनसन ने कहा कि आग के मौसम के दौरान अलास्का में वाणिज्यिक हेलीकाप्टरों की अत्यधिक मांग हो जाती है। उन्होंने रविवार को कहा, “हमें काम करने के लिए हेलीकॉप्टर ढूंढने में कठिनाई हो रही है।”

मृतकों में 51 वर्षीय रोनाल्ड डैनन और 27 वर्षीय जस्टिन जर्मन, दोनों फेयरबैंक्स के थे; टोरी मूर, 26, साउथ बेंड, इंडियाना के; और उत्तरी ध्रुव, अलास्का के 48 वर्षीय पायलट बर्नार्ड “टोनी” हिगडन।

हेलीकॉप्टर में सवार तीनों लोग थे सरकारी कर्मचारी 

क्षेत्र में फील्डवर्क करते समय, अलास्का प्राकृतिक संसाधन विभाग के कर्मचारियों को 1996 बेल 206 हेलीकॉप्टर में ले जाया गया जो गुरुवार को दुर्घटनाग्रस्त हो गया। वे भूवैज्ञानिक और भूभौतिकीय सर्वेक्षण प्रभाग से संबंधित थे।

हेलीकॉप्टर का स्वामित्व मैरीटाइम हेलीकॉप्टर्स के पास है। कंपनी ने एक बयान में पायलट हिग्डन की सराहना की।हम सभी टोनी को एक कुशल पेशेवर और कुशल पायलट के रूप में जानते थे। हम सब को उनकी बहुत याद आएगी।

Alaska Helicopter crash में मारे गए 4 लोगों के शव झील से बरामद, पायलट समेत तीन लोग थे विमान में सवार

Alaska Helicopter crash अलास्का के खोज और बचाव गोताखोरों ने रविवार को अपने विमान के डूबे हुए मलबे से एक हेलीकॉप्टर पायलट और तीन वैज्ञानिकों के शव बरामद किए जो पिछले सप्ताह सुदूर उत्तरी ढलान पर एक उथली झील में गिर गया था। अधिकारियों ने इसकी जानकारी दी। इस दुर्घटना के कारण की जांच राष्ट्रीय परिवहन सुरक्षा बोर्ड द्वारा की जा रही है।

एंकरेज, एजेंसी। अलास्का में एक पायलट और तीन सरकारी कर्मचारियों को ले जा रहा एक हेलीकॉप्टर सुदूर उत्तरी ढलान क्षेत्र में स्थित शनिवार को एक झील में दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। अलास्का के खोज और बचाव गोताखोरों ने रविवार को अपने विमान के डूबे हुए मलबे से एक हेलीकॉप्टर पायलट और तीन वैज्ञानिकों के शव बरामद किए, जो पिछले सप्ताह सुदूर उत्तरी ढलान पर एक उथली झील में गिर गया था। अधिकारियों ने इसकी जानकारी दी।

दुर्घटना के कारण की जांच राष्ट्रीय परिवहन सुरक्षा बोर्ड द्वारा की जा रही है।

राष्ट्रीय परिवहन सुरक्षा बोर्ड के अलास्का क्षेत्र के प्रमुख क्लिंट जॉनसन ने कहा, मलबे को उठाने का एकमात्र तरीका दूसरे हेलीकॉप्टर का उपयोग करना होगा क्योंकि यह विशाल टुंड्रा में फैली कई झीलों में से एक के बीच में है।

चार लोगों का मिला शव 

क्लिंट जॉनसन ने कहा कि आग के मौसम के दौरान अलास्का में वाणिज्यिक हेलीकाप्टरों की अत्यधिक मांग हो जाती है। उन्होंने रविवार को कहा, “हमें काम करने के लिए हेलीकॉप्टर ढूंढने में कठिनाई हो रही है।”

मृतकों में 51 वर्षीय रोनाल्ड डैनन और 27 वर्षीय जस्टिन जर्मन, दोनों फेयरबैंक्स के थे; टोरी मूर, 26, साउथ बेंड, इंडियाना के; और उत्तरी ध्रुव, अलास्का के 48 वर्षीय पायलट बर्नार्ड “टोनी” हिगडन।

हेलीकॉप्टर में सवार तीनों लोग थे सरकारी कर्मचारी 

क्षेत्र में फील्डवर्क करते समय, अलास्का प्राकृतिक संसाधन विभाग के कर्मचारियों को 1996 बेल 206 हेलीकॉप्टर में ले जाया गया जो गुरुवार को दुर्घटनाग्रस्त हो गया। वे भूवैज्ञानिक और भूभौतिकीय सर्वेक्षण प्रभाग से संबंधित थे।

हेलीकॉप्टर का स्वामित्व मैरीटाइम हेलीकॉप्टर्स के पास है। कंपनी ने एक बयान में पायलट हिग्डन की सराहना की।हम सभी टोनी को एक कुशल पेशेवर और कुशल पायलट के रूप में जानते थे। हम सब को उनकी बहुत याद आएगी।